Vastu Tips

अनेक बार मकान, दुकान आफिस में कई इतने छोटे-छोटे वास्तु दोष होते हैं जिससे नाना प्रकार की समस्याएं पैदा हो जाती हैं जैसे बिक्री का न होना, धन का रुक जाना, कर्जा चढ़ जाना इत्यादि निम्रलिखित उपायों से जल्द राहत मिलेगी-
A. घर की रसोई हमेशा अग्रि कोण में हो, गैस चूल्हा भी अग्रि कोण (साऊथ ईस्ट) में, खाना पूर्व की ओर मुंह करके बनाएं, शैंक (बर्तन धोने वाला) हमेशा नार्थ ईस्ट (ईशान कोण) में रखें। शयन कक्ष या रसोई में रात को झूठे बर्तन मत छोड़ें। हमेशा धो-मांज कर रखें।
B. शयन कक्ष में मदिरापान तथा कोई दूसरा व्यसन न करें, बैडरूम में कोई डरावना चित्र न लगाएं, अपने बड़े बुजुर्गों के चित्र सिर्फ लॉबी या ड्राइंगरूम में दक्षिण दिशा में लगाएं।
C. शयनकक्ष में आपका पलंग कमरे के दरवाजे के सामने न हो, पलंग का सर दक्षिण दिशा में और पैर उत्तर दिशा की ओर रहने चाहिएं।
D. घर में 3 दरवाजे आमने-सामने एक ही सीध में न हों।
E. सीढ़ी के नीचे कोई बिजली का उपकरण न हो, न ही कोई खाने-पीने का सामान होना चाहिए। सीढ़ी कभी भी पश्चिम या दक्षिण में न खुलती हो, इसके बहुत भयावह नुक्सान हैं।
F. बाथरूम भूल कर भी नार्थईस्ट (ईशान कोण) में न हो, हमेशा दक्षिण-पश्चिम, पश्चिम-उत्तर पश्चिम टायलेट की सीट पर पूर्व या उत्तर की तरफ मुंह करके बैठें, टायलेट में कांच के बाऊल में क्रिस्टल साल्ट (दरदरा नमक) भर कर रखें, 15 दिन बाद बदल दें, पहला टायलेट के सिंक में डाल दें। अगर किसी कारण टायलेट उत्तर-पूर्व में हो तो इसके दरवाजे पर रोअरिंग लायन का फोटो पेस्ट कर दें।
G. घर में नित्य नमक मिले पानी से पोंछा लगाएं।

by wpadmin

Leave a Reply